Aajtak

Related Keyword : Aajtak |

 

रबर जैसे खिंचने वाला स्मार्टफोन

स्मार्टफोन कंपनियां डिस्प्ले में कई प्रयोग कर रही हैं. कर्व्ड डिस्प्ले, स्क्रैच प्रूफ डिस्प्ले, शैटर प्रूफ डिस्प्ले और फोल्डेबल डिस्प्ले. ये स्क्रीन के कुछ टाइप्स हैं, जो धीरे धीरे स्मार्टफोन्स में मिलने शुरू हुए हैं. इस बार के मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस में भी फोल्डेबल डिस्प्ले वाले स्मार्टफोन छाए रहे.

अब एक नए तरीके के स्क्रीन वाला स्मार्टफोन आ सकता है जिसे स्ट्रेच किया जा सकेगा. यानी इसे खींचा जा सकता है, ठीक वैसे ही जैसे रबर को. रिपोर्ट के मुताबिक एलजी एक स्ट्रेचेबल स्मार्टफोन पर काम कर रही है.

एंड्रॉयड हेडलाइन की रिपोर्ट में कहा गया है कि एलजी ने अमेरिकी पेटेंट एंट ट्रेडमार्क ऑफिस में आवेदन किया है जो 2015 का है. इस पेटेंट को हरी झंडी भी मिल गई है.

इस पेटेंट में मोबाइल टर्मिनल की बात की गई है जिसे एक तरफ से स्ट्रेच किया जा सकता है. हालांकि ये एक्स्पेरिमेंट लेवल का है और फिलहाल ये नहीं कहा जा सकता कि इसे कंपनी लॉन्च करेगी ही.

अगर पेटेंट के मुताबिक डिवाइस तैयार किया जा रहा है, तो हम ये कह सकते हैं कि कंपनी ऐसी स्क्रीन के साथ स्मार्टफोन ला सकती है जिसे यूजर्स जरूरत पड़ने पर खींच कर थोड़ा बड़ा या छोटा कर सकते हैं. 

रिपोर्ट के मुताबिक एलजी ने यह भी कहा है कि इस तरह की डिस्प्ले में ग्रिप सेंसिग यूनिट के साथ सेंसर लगाया गया है और ये यूजर्स के बिहेवियर को समझेगा. उदाहरण के तौर पर अगर यूजर वीडियो देखने के समय एक खास जगह की स्क्रीन को खींचता है तो बाद में खुद से वहां वीडियो देखते वक्त स्क्रीन एक्स्पैंड हो जाएगी.  

गौरतलब है कि एलजी ने मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस के दौरान एक स्मार्टफोन शोकेस किया जिसमें दो स्क्रीन अटैच थी. डिस्प्ले फोल्डेबल नहीं है, लेकिन इसे फोल्डेबल फोन कहा जा सकता है. खास बात ये है कि दोनों ही डिस्प्ले को साइड बाइ साइड यूज किया जा सकता है और इस फोन में 5G कनेक्टिविटी भी है.


source : aajtak


07th March 2019

vitorr news

By

जूता कांड के बाद तनाव, विधायक धरने पर, कड़ी सुरक्षा में निकाले गए सांसद

यूपी के खलीलाबाद से बीजेपी के सांसद शरद त्रिपाठी और मेंहदावल से बीजेपी विधायक राकेश सिंह बघेल के बीच बुधवार को जमकर मारपीट हुई. इसके बाद विधायक राकेश सिंह बघेल अपने समर्थकों के साथ सांसद शरद त्रिपाठी के ऊपर कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए हैं. इस बीच विधायक और सांसद को बीजेपी हाईकमान ने लखनऊ तलब कर लिया है.

इस बीच बुधवार पूरी रात संतकबीरनगर जिला मुख्यालय का माहौल तनावपूर्ण रहा. विधायक समर्थक पूरी रात शरद त्रिपाठी के खिलाफ अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल करते हुए नारेबाजी करते रहे. इस बीच जिला प्रशासन ने शरद त्रिपाठी को कलेक्ट्रेट के एक कमरे में बैठाया. रात में विधायक समर्थकों ने शरद त्रिपाठी के रूम में घुसने की भी कोशिश की और तोड़फोड़ किया. हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस ने विधायक समर्थकों पर लाठीचार्ज भी किया. कई समर्थक घायल भी बताए जा रहे हैं.

गुरुवार को भी माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है. विधायक राकेश सिंह बघेल लाठीचार्ज के विरोध में धरने पर बैठे हैं. उन्होंने लाठीचार्ज करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के साथ ही सांसद शरद त्रिपाठी के खिलाफ भी कार्रवाई करने की मांग की है. धरने पर बैठे विधायक समर्थक भारत माता की जय और जय श्रीराम के नारे लगा रहे हैं.

लखनऊ बुलाए गए सांसद-विधायक

शरद त्रिपाठी और राकेश सिंह बघेल के बीच हुई मारपीट मामले में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने संतकबीर नगर में मारपीट की घटना को अशोभनीय एवं अमर्यादित आचरण करार दिया था. उन्होंने मामले को गंभीरता से संज्ञान लेते हुए सांसद शरद त्रिपाठी और विधायक राकेश सिंह बघेल को तत्काल लखनऊ बुलाया है.

दोनों पर हो सकती है कार्रवाई

सूत्रों के मुताबिक, पार्टी हाईकमान विधायक और सांसद पर अनुशासनात्मक कार्रवाई कर सकता है. बीजेपी के स्थानीय नेताओं से रिपोर्ट तलब की गई है. बताया यह भी जा रहा है कि पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रमापति राम त्रिपाठी के बेटे और खलीलाबाद से सांसद शरद त्रिपाठी का पार्टी टिकट भी काट सकती है. इसके अलावा दोनों नेताओं को निलंबित किए जाने की भी खबर है.

source : aajtak


07th March 2019

vitorr news

By