Hindi poem

Related Keyword : Hindi poem | Atal Bihari Vajpayee hindi poems |

 

फिर वही बात

चलो एक बहाना बनाते है,

फिर उस गली घूम आते है।


अपने राज जिसको बताये थे,


फिर उसी राजदार से मिलके आते है।


यादें याद नही तोह क्या,


चलो फिर मिलके यादों को दोहराते है।


इतनी भी परेशानी नही होती,


अगर हर बात पे तकरार नही होती। 

See this on Instagram and follow me : uniquelaunda




14th March 2019

shammi saha

By

Ruth na jana

कभी रूत ना जाना मुझे मनाना नहीं आता

कभी दूर ना जाना मुझे पास बुलाना नहीं आता

अगर तुम भूल जाओ तो वो तुम्हारी मर्जी

हमें तो भूल जाना भी नहीं आता ||

31st January 2019

Ritish singh

By